NIA Jaipur Ayurveda PG Entrance Exam Question Paper 2008 With Answer Key

NIA Jaipur Ayurveda PG Entrance Exam-2008

1. ‘युक्तं भुक्तवतो युक्तो ………………………..। (च. चि. 15/51)

(a) करोति विषम पचन 

(b) व्याधि कर्षणात् 

(c) धातुसाम्यं समं पचन 

(d) प्रसादजः 

Answer: (c)

2. एक रोगी जिसका दुष्कोष्ठ है उसे विरेचन औषध देना है। – चरकानुसार ऐसी स्थिति में क्या निर्दिष्ट है ?

(a) सामान्य मात्रा में बार-बार देना 

(b) मात्रा में बार-बार देना 

(c) मृदु औषधि पुनः पुनः देना 

(d) उर्पयुक्त में से कोई नहीं 

Answer: (c)

3. अक्रियायां धु्रवो मृत्युः क्रियायां संशयो भवेत्। – किससे संबंधित है ?

(a) ग्रह रोग 

(b) संयास 

(c) जठर रोग 

(d) उन्माद

Answer: (c)

4. चरक संहिता में शोष निदान के अन्तर्गत इसके चार कारण बताये है ? (च. नि. 6/3)

(a) विषमाशन साहस, क्षय, अग्निहृास्र 

(b) आतपसेवन, भय, शोक, अतिसाहस 

(c) साहस, सन्धारण, क्षय, विषमाशन 

(d) बलक्षय, साहस, मानसिक सन्ताप, ज्वर 

Answer: (c)

5. ‘‘गर्भकोष्ठार्तवागमन वैशेष्यात्’’ – किसके सम्बंधित है। (च. नि. 3/13)

(a) मूढगर्भ

(b) रक्तप्रदर

(c) गर्भस्राव

(d) रक्त गुल्म 

Answer: (d)

6. एकत्रीभूत दोषों की पुनः कल्पना और अंश के बल की कल्पना कहलाती है ? (च. नि. 1/11)

(a) प्रादुर्भूत लक्षण 

(b) विकल्प सम्प्राप्ति 

(c) विधि सम्प्राप्ति 

(d) प्राधान्य सम्प्राप्ति 

Answer: (b)

7. दो-दो, तीन-तीन, चार-चार, पाॅच-पाॅच एंव छः रस आपस में मिलकर क्रमशः द्रव्य बनाते है ?

(a) 15, 20, 15, 20, 25 

(b) 12, 18, 24, 30, 36 

(c) 30, 24, 18, 12, 6  

(d) 15, 20, 15, 6, 1 

Answer: (d)

8. प्रकुपित कफ गले अन्तःप्रदेश में जाकर स्थिर हो जाये, शीघ्र ही शोथ उत्पन्न कर दे तो वह है ? (च.सू. 18/22)

(a) गुल्म

(b) गलगण्ड

(c) गलग्रह

(d) गलशुण्डिका

Answer: (c)

9. सर्पिवर्ण, मधु के समान रस एंव लाजा के समान गन्ध – किसका लक्षण है ? (च. सू. 17/75)

(a) मेद धातु 

(b) रस धातु

(c) शुक्र धातु 

(d) ओज

Answer: (d)

10. ‘‘तैलपन्चक’’ निम्न में से किस की चिकित्सा हेतु निर्दिष्ट है –

(a) वातरक्त

(b) गुल्म

(c) आमवात

(d) कुष्ठ

Answer: (b)

11. ‘‘हृदयं मन्यते च्युतं’’ – निम्न में से किस व्याधि का लक्षण हैं ? (च. चि 18/26)

(a) क्षयज कास 

(b) वातिक कास 

(c) क्षतक्षीण 

(d) उपर्युक्त सभी 

Answer: (a)

12. एक रोगी हेतु उसके शुक्र का पानी में डालने पर डूब जाना- कितनी समयावधि का अरिष्ट है ? (च. इ. 11/11)

(a) 30 दिन 

(b) 15 दिन 

(c) 7 दिन

(d) 3 दिन 

Answer: (a)

13. वातज उन्माद मे ‘भयदर्शन’ किस प्रकार की चिकित्सा का उदाहरण है ?

(a) हेतुविपरीतार्थकारी

(b) व्याधिविपरीतार्थकारी

(c) उभयविपरीतार्थकारी

(d) व्याधि विपरीत 

Answer: (a)

14. सुश्रुत संहिता (डल्हण टीका) में निम्न किसको यन्त्र एवं शस्त्र दोनों के रूप में माना जाता है ? (सु. सू. 8/41)

(a) मण्डलाग्र

(b) मुद्रिका

(c) बडिश

(d) कंकमुख

Answer: (c)

15. शास्त्रानुसार शल्य चिकित्सा से पूर्व क्रमशः निषिद्ध एवं ग्रहणीय द्रव्य है ? (सु. सू. 17/16)

(a) भोजन, मद्य 

(b) मद्य, भोजन 

(c) उपरोक्त दोनों असत्य है 

(d) उपरोक्त तीनों कथन असत्य है 

Answer: (a)

16. ‘पश्चाद्रुज’ शरीर के किस भाग को प्रभावित करता है ?

(a) Anal area 

(b) Peritibial area 

(c) Cardiac region 

(d) Scalp 

Answer: (a)

17. चरक ने अर्श में रक्तस्तम्भनार्थ हेतु किसका निर्देश किया है ? (च. चि. 14/219)

(a)  शतधौत घृत 

(b) सहस्रधौत घृत 

(c) उपरोक्त दोनों 

(d) उपरोक्त में कोई भी नहीं 

Answer: (c)

18. अरविन्दासव को मधुर बनाने के लिए उपयोग करते है ?

(a) गुड

(b) मधु

(c) शर्करा

(d) शर्करा एवं मधु 

Answer: (d)

19. Absorption of Tamra (Copper) principally occurs in human from –

(a) Stomuch

(b) Mouth

(c) Duodenum

(d) Ileum

Answer: (c)

20. ‘चांगेरी घृत’ का उपयोग किस व्याधि में उपयोगी है ? (च. चि 19/43)

(a) पाण्डु

(b) गुदभ्रंश

(c) कामला

(d) श्वास रोग

Answer: (b)

21. चरक के मतानुसार ’पिप्पली वर्धमान रसायन’ का प्रमुख उपयोग किस व्याधि में निर्दिष्ट है ?

(a) प्लीहोदर

(b) श्वास

(c) कास

(d) उपरोक्त सभी में 

Answer: (a)

22. प्रवाल चूर्ण का प्रयोग निर्दिष्ट है ? (च. चि. 26/56)

(a) वातज मूत्रकृच्छ्र 

(b) पित्तज मूत्रकृच्छ्र 

(c) कफज मूत्रकृच्छ्र 

(d) उपरोक्त में कोई भी नहीं 

Answer: (c)

23. A child is suffering with diarrohea since last 6 months, weight of the child is 42 % loss of weight to his expected weight for age and there is no edema than In whiat will be your diagnosis ?

(a) PEM Grade I 

(b) PEM Grade II 

(c) PEM Grade III 

(d) PEM Grade IV 

Answer: (d)

24. माधव निदान में वर्णित ‘विसूचिका‘ के उपद्रव है ? (माधव निदान 6/25)

(a) अनिद्रा, मूत्रहृास्र, संज्ञानाश 

(b) अनिद्रा, मूत्रहृास्र, संज्ञानाश 

(c) निद्रानाश, अरति, कम्प, मूत्राघात, विसंज्ञता 

(d) अनिद्रा, श्यावता, मूत्रहृास्र 

Answer: (c)

25. वात्सल्य इससे संबंधित नहीं है ?

(a) Oxytoxin production 

(b) Breast milk production due to secretion of prolaction hormone 

(c) Letdown reflex 

(d) Breast milk flow 

Answer: (a)

26. प्राणप्रत्यागमन के समय कितनी इन्द्रियों को उत्तेजना प्रदान की जाती है ?

(a) 1

(b) 2

(c) 3

(d) 4

Answer: (c)

27. एक सामान्य व्यक्ति में श्वसन के दौरान प्रतिदिन होने वाला जल एवं सम ऊर्जा हृास्र औसतन होता है ?

(a) 400 ml, 230 Cal 

(b) 380 ml, 280 Cal 

(c) 300 ml, 200 Cal 

(d) 200 ml, 100 Cal 

Answer: (a)

28. After consuming a high dose of a drug patient developed anorexia, painful Swelling over long bones and pruritic rashes. It happened due to toxicity of which Vitamin ?

(a) Vit B6 

(b) Vit A 

(c) Vit E 

(d) Vit D 

Answer: (b)

29. ‘वल्लूर’ शब्द का चक्रपाणिकृत अर्थ हैं ?

(a) शुष्क फलम् 

(b) शुष्क मांसम् 

(c) शुष्क शाकम् 

(d) शुष्क कन्दम् 

Answer: (b)

30. बृंहणीय वस्ति का प्रभाव निर्दिष्ट है ?

(a) वृहदांत्र

(b) सम्पूर्ण आंत्र में 

(c) आंत्र, उदरीय एवं उरः अंगों में 

(d) सम्पूर्ण शरीर 

Answer: (d)

31. ‘इन्द्रवडवा’ हैं ? (का. क. 7)

(a) एक प्रकार की जलौका 

(b) जलौका की एक व्याधि 

(c) जातहारिणी चिकित्सा में प्रयुक्त मन्त्र 

(d) एक जातहारिणी जो कि गर्भाशयान्तगर्त गर्भ मृत्यु को निर्दिष्ट करती है। 

Answer: (d)

32. Kwashiorkar is characterized by all except –

(a) Dermatitis

(b) Oedema

(c) Flag sign 

(d) Alertness

Answer: (d)

33. ‘होम, व्रत, तप, दान तथा शान्तिकर्म’ – इस सम्पूर्ण चिकित्सा व्यवस्था का शास्त्रीय नाम है ?

(a) औषध

(b) भेषज

(c) पथ्य

(d) उपरोक्त सभी

Answer: (b)

34. ‘‘पवनपृथ्वी व्यतिरेकात्’ से किस रस का निर्माण होता हैं ? (च. सू. 26/40)

(a) अम्ल

(b) लवण

(c) मधुर

(d) कषाय

Answer: (d)

35. गुरू, स्निग्ध व उष्ण गुण किस रस में उपस्थित होते है ? (च. सू. 26/42)

(a) कटु

(b) तिक्त

(c)  लवण

(d) अम्ल

Answer: (c)

36. ‘रोचनं दीपनं वातकफदौगन्ध्र्यनाशनम्’ है ?

(a) कार्वी

(b) रसोन

(c) सरला

(d) पलाण्डु

Answer: (a)

37. कौन सा द्रव्य विचित्र प्रत्यारब्ध का उदाहरण हैं ?

(a) गुडूची

(b) यष्टिमधु

(c) कुटज

(d) किराततिक्त

Answer: (d)

38. ‘विदारीगंधा’ किसका पर्याय हैं ?

(a) क्षीरविदारी

(b) विदारी

(c) शालपर्णी

(d) पृश्निपर्णी

Answer: (c)

39. कौनसा द्रव्य कटुचतुर्जातक में सम्मिलित नहीं है ?

(a) पत्रक

(b) त्वक्

(c) लंवग

(d) एला

Answer: (c)

40. ‘‘पूयशोणित’’ रोग हैं ?

(a) कण्ठरोग

(b) नासारोग

(c) नेत्र रोग 

(d) कर्ण रोग

Answer: (b)

41. Boyce’s position is given in –

(a) Tooth Extraction 

(b) Direct Laryngoscopy 

(c) Glomus Juglaris Tumours 

(d) PosteriorTonsillectomy 

Answer: (d)

42. Round Ligament inserted in –

(a) Labia minora 

(b) Clitoris

(c) Vaginal fornix

(d) Labia majora 

Answer: (d)

43. इनमें से सर्वशरीरव्यापी कला है ? (सु. शा. 4/20)

(a) मांसधरा

(b) रक्तधरा

(c) शुक्रधरा

(d) पित्तधरा

Answer: (c)

44. All are true about Right kidney except –

(a) Related to the duodenum 

(b) Lower than the left kidney 

(c) The renal vein is shorter than the left 

(d) Preferred over the left for transplantation 

Answer: (c)

45. असम्मोहश्च वैद्यस्य …………….. शस्यते।। (सु. सू. 5/10)

(a) निराश्रय

(b) कर्माणि

(c) उपर्युक्त दोनों 

(d) उपरोक्त में कोई नहीं 

Answer: (d)

46. निराग्नि स्वेद के संबंध में कौनसा का युग्म ठीक है ? (च. सू. 14/64)

(a) क्षुधा – पिपासा

(b) क्रोध – शोक 

(c) व्यायाम – युद्ध 

(d) तप – आतप 

Answer: (c)

47. अजा के अर्धोदक दुग्ध में सुगंधबाला, उत्पल, नागर व पृश्निपृर्णी कल्क से बनाई पेया नष्ट करती है (च.सू.2/21)

(a) तीव्र ज्वर

(b) मूत्रकृच्छ 

(c) रक्तातिसार

(d) विषम ज्वर

Answer: (c)

48. कौन सी अवस्था के लिए चिकित्सा परम आवश्यक है ? (च. सू. 24/42)

(a) मद

(b) मूच्र्छा

(c) संन्यास

(d) उपरोक्त सभी हेतु 

Answer: (c)

49. ‘हृदयाद’ कौनसा कृमि है ? (च. सू. 19/3(9))

(a) बाहृय कृमि 

(b) रक्तज कृमि 

(c) श्लेष्मज कृमि 

(d) पुरीषज कृमि 

Answer: (c)

50. वृत्तोन्नतो यः श्वयथुः सदाह कण्डवान्वितोऽपाकमृदुर्गुरूश्च’ – किस व्याधि का लक्षण है ? (सु. नि. 16/57)

(a) बलास

(b) वलय

(c) एक वृन्द

(d) गिलायु

Answer: (c)

51. इस व्याधि से पीडित रोगी यदि 3 दिन बाद भी जीवित रहे, तो उसकी चिकित्सा करनी चाहिए (च. सि. 9/73)

(a) कृमि ग्रन्थि 

(b) रक्त शिरोरोग 

(c) शोणितार्श

(d) शंखक

Answer: (d)

52. जिहृ्वातलाभो मृदुः स्निग्धः श्लक्ष्णो विगतवेदनः – कौनसे व्रण का लक्षण है ? (सु. चि.. 1/7)

(a) संक्रमित व्रण 

(b) सम्यकरूढ व्रण 

(c) रोपणशील व्रण 

(d) शुद्ध व्रण 

Answer: (d)

53. ‘‘शक्र्तिदन्तेषु खडगाग्र विषाणैराशयोहतः‘ – किस सद्योव्रण को उत्पन्न करते है ? (सु. नि. 2/11)

(a) छिन्न

(b) भिन्न

(c) पिच्चित

(d) घृष्ट

Answer: (b)

54. अल्पचेष्टा, क्षुद्रश्वास, तृष्णा, मोह, निद्रा, श्वासावरोध, क्षुधा, स्वेद व दौर्गन्ध्य किसके लक्षण है ? (मा. नि. 34/3)

(a) हृदय रोग 

(b) वृक्क रोग 

(c) मेदोरोग

(d) उदर रोग 

Answer: (c)

55. ‘भानुपाक, स्थालीपाक व पुटपाक’ क्रम से भस्म निर्माण करते है ?

(a) केवल लौह भस्म का 

(b) केवल अभ्रक भस्म का 

(c) लौह और अभ्रक भस्म का 

(d) उपरोक्त में से किसी का नहीं 

Answer: (a)

56. सुश्रुत निर्देशानुसार हेतुव्याधिविपरीतार्थकारी विहारोपक्रम के अन्तर्गत अनेक दोष युक्त छर्दि में क्या करना चाहिए ?

(a) छर्दि निग्रहण 

(b) वमन

(c) भ्रमण

(d) उपरोक्त कोई भी नहीं

Answer: (b)

57. ‘ …………………….. तु खलून्मादकराणां भूतानामुन्मादे प्रयोजनं भवतिः’ (च. नि. 7/15)

(a) द्विविधं

(b) त्रिविधं

(c) चतुर्विधं

(d) पन्चविधं

Answer: (b)

58. ‘‘स च सप्तविधोदोषैर्विज्ञेयः सप्त धातुक’’ – किसके संदर्भ में कहा गया है ?

(a) प्रमेह

(b) उदररोग

(c) विसर्प

(d) ज्वर

Answer: (c)

59. पंचामृत पर्पटी के भाग है ?

(a) ताम्र एवं तुत्थ भस्म 

(b) अभ्रक एवं मण्डूर भस्म 

(c) पारद एवं गंधक 

(d) उपरोक्त मं से कोई नही 

Answer: (c)

60. पक्वबिम्बफलच्छायं वृत्तायतमवक्रकम् – लक्षण है ? (र. र. समु. 4/17)

(a) माणिक्य

(b) प्रवाल

(c) मुक्ता

(d) उपरोक्त मं कोई नही 

Answer: (b)

61. ‘‘भाविव्याधि बोधकमेव लिंगम् पूर्वरूपम् ’’ परिभाषा किस आचार्य द्वारा निर्देशित है ?

(a) चक्रपाणि

(b) डल्हण

(c) माधवकर

(d) गंगाधर

Answer: (c)

62. लक्षण के आधार पर ‘‘कुपण गंधि आर्तवदुष्टि’’ को किस आधुनिक व्याधि के समकक्ष रखा जा सकता है ?

(a) Endometrial Carcinoma 

(b) Chronic pelvic cervicitis 

(c) Acute infection of reproductive system 

(d) Cervical carcinoma 

Answer: (a)

63. ऋतु, क्षेत्र, अम्बु और बीज – गर्भ उत्पत्ति के संदर्भ क्या होते है ? (सु. शा. 2/35)

(a) गर्भोपघातकर भाव 

(b) गर्भवृद्धिकर भाव 

(c) गर्भोत्पत्ति सामग्री 

(d) गर्भोत्पादक भाव 

Answer: (c)

64. जो वस्तु जैसी है उसको उसी रूप में ग्रहण करना कहलाता है ?

(a) प्रमा

(b) प्रमेय

(c) प्रमाता

(d) एतिह्य

Answer: (a)

65. दर्शन के अनुसार भौतिक परिवर्तन हेतु प्रयुक्त प्रक्रिया कहलाती है ?

(a) पीलू पाक 

(b) पिठर पाक 

(c) परिणाम

(d) प्रकृति

Answer: (b)

66. ‘‘पथ्य ही भोजन करना चाहिए’’ – उक्त कथन किस तंत्रयुक्ति का उदाहरण हैं ? (सु. उ. 65/37)

(a) स्वसंज्ञा

(b) निदर्शन

(c) नियोग

(d) समुच्चय

Answer: (c)

67. उत्तर वस्ति परिचर्या के अन्तर्गत चरक ने कितनी बातों को विशेष रूप से वर्जनीय बताया है ? (च. सि. 12/10)

(a) 8

(b) 7

(c) 6

(d) 5

Answer: (a)

68. सामान्यावस्था में एक व्यक्ति का मस्तिष्क, यकृत, वृक्क एवं हृदय क्रमशः कितने रक्तमात्रा/मिनिट प्राप्त करते है

(a)  750, 1500, 1200, 200 ml 

(b) 1500, 750, 200, 1200 ml 

(c) 1200, 200, 1500, 750 ml 

(d) 200, 1200, 1500, 750 ml 

Answer: (a)

69. शीत,उष्ण, स्निग्ध,रूक्षादि उपक्रमों से भी शान्त न होने वाले शाखानुसारी ज्वर की चिकित्सा है ? (च.चि. 3/289)

(a) सर्पिपान

(b) विरेचन

(c) निरूह वस्ति 

(d) रक्तावसेचन

Answer: (d)

70. किस माह में गर्भ ‘सुख दुख का अनुभव’ करना प्रारम्भ कर देता है ? (का. शा. 2)

(a) तृतीय

(b) चतुर्थ

(c) षष्टम्

(d) सप्तम्

Answer: (a)

71. शरीर का ‘‘गौर वर्ण’’ किन महाभूतों निम्न संयोग से उत्पन्न होता है ? (सु. शा. 2/37)

(a) तेज, जल, आकाश 

(b) तेज, पृथ्वी, वायु 

(c) आकाश, वायु, जल 

(d) आकाश, जल, पृथ्वी 

Answer: (a)

72. ‘पिण्डिकोद्वेष्टन’ किसके वेगावरोध का लक्षण है ? (च. सू. 7/8)

(a) मूत्र

(b) पुरीष

(c) शुक्र

(d) श्रमःनिश्वास 

Answer: (b)

Latest Govt Job & Exam Updates:

View Full List ...